Finance Kya hai ?

finance_in_hindi_(inhindisexyz)

Finance Kya hai ? फाइनेंस का हिंदी में अर्थ वित्त होता है और वित्त  को पैसों धन के प्रबंध के रूप में परिभाषित किया गया है उम्मीद हैं कि Finance Kya hai ? आपको इस बारे में थोडा बहुत अनुमान लग गया होगा हम वित्त से जुड़े जरूरी मुख्य बिंदुओं की बात करें तो इसमें बजट, बचत, निवेश, उधार, पूर्वानुमान जैसे बिंदु शामिल है.  

ऊपर दी गई पंक्तियों में फाइनेंस वित्त के बारे में और उसके कुछ बिंदु के बारे में बताया गया इसी प्रकार यदि हम बात करें केवल फाइनेंस की ही तो इसके कई प्रकार है.


Finance Kya hai ? Or iske prakar


1 Personal finance( व्यक्तिगत वित्त)

2 Corporate finance( निकाय या निगम वित्त)

3 Public fiance (  सार्वजनिक वित्त)


    आइए ऊपर दिए गए इन तीनों विषयों के बारे में चर्चा करते हैं तो हमारा सबसे पहला और महत्वपूर्ण बिंदु है


    1. Personal finance ( व्यक्तिगत वित्त)


     व्यक्तिगत वित्त जिसका अर्थ इसके नाम से ही स्पष्ट है इसमें आय, खर्च, बचत, निवेश, उधार, बजट, और पूर्वानुमान जैसी गतिविधियां शामिल है  व्यक्तिगत वित्त किसी एक व्यक्ति के प्रबंधन की प्रक्रिया को एक बजट या एक वित्तीय योजना में संक्षिप्त या परिभाषित किया जाता है.


     इसी प्रकार हम फाइनेंस के दूसरे बिंदु कोऑपरेट वित्त यानी कि निकाय या निगम वित्त के विषय पर चर्चा करेंगे


    2. Corporate finance  (निकाय या निगम वित्त)


     इस तरह के वित्त  मैं निगम या  निकाह या कोई संस्था एक पूंजीगत ढांचे के साथ काम करती है जिसमें  इसकी निधि या धन और प्रबंधन जो मूल्यों को बढ़ाने के लिए प्रबंधन करता है वह सही मायने में कॉरपोरेट फाइनेंस या  वित्त कहा जा सकता है


    3. Public finance ( सार्वजनिक वित्त)


     सार्वजनिक वित्त देश के व्यय राजस्व विभिन्न सरकारी और अर्ध सरकारी संस्थानों के  माध्यम से ऋण भार का प्रबंधन करती है पब्लिक फाइनेंस के और भी कई घटक होते हैं  सार्वजनिक विद किसी देश की वित्तीय व्यवस्था को बनाए रखने के लिए होती है


     मुझे उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट में Finance Kya hai ?

    और इसके कुछ महत्वपूर्ण बिंदु और उपरोक्त दी गई जानकारी पसंद आई होगी.

     हमने अभी तक  ऊपर दी गई उपरोक्त  जानकारी में वित्त यानी कि फाइनेंस के मूलभूत  हिस्सा  के विषय में जाना अब हम वित्त या फाइनेंस में आने  वाले कुछ  बिंदुओं जैसे बचत निवेश तथा वित्तीय सेवाओं के बारे में जानेंगे.


     तो हमारा अगला टॉपिक है फाइनेंस सर्विसेज यानी कि वित्तीय सेवाएं  हम कहीं ना कहीं किसी तरह से इन सरकारी या गैर सरकारी वित्तीय सेवाओं से जुड़े हुए हैं फिर वो  चाहे किसी बैंक से जुड़े हो या फिर किसी स्टॉक  ब्रोकर से  हम सभी जानते हैं कि वित्तीय सेवाएं हमारे जीवन का अब एक अभिन्न अंग है.

     
    types_of_finance_(inhindisexyz)

    Financial services ( वित्तीय सेवाएं)


     इसका अर्थ यह है कि एसी सर्विसेस या सेवाएं जिसमें वित्तीय संबंधी सभी सर्विसेस जैसे बैंक म्यूच्यूअल फंड स्टॉक ट्रेडिंग बैंक लोन सर्विस बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट सर्विस जैसी सभी वित्तीय सेवाएं financial Services यानी कि वित्तीय सेवाओं के अंतर्गत आती है

    आइए अब हम फाइनेंस विद मैं आने वाले दो और बिंदुओं बचत और निवेश जैसे विषयों पर चर्चा करते हैं.


    Saving ( बचत )

     यह  आपके वित्त फाइनेंस का वह हिस्सा है जो आपकी आय  से सभी व्यय यानी कि खर्चों को हटाने के बाद बचता है उम्मीद है की आप भी बचत करते होंगे हम सभी को बचत करनी चाहिए बचत चाहे छोटी हो या बड़ी हमें अपने हिसाब एवं अपने बजट को देखकर अवश्य करनी चाहिए और ऐसा करने से आप आगे  उस बचत को निवेश करके आप अपनी छोटी या बड़ी आवश्यकता  और आशाओं को पूरा करने में कामयाब हो सकते हो. 


    Investment ( निवेश)


     आजकल के दौर में टेक्नो टेक्नोलॉजी के कारण निवेश के विकल्प काफी हद तक बढ़ गए हैं और इसी के साथ निवेश करना पहले से बेहद आसान और सुविधाजनक हो गया है  Technology के इस दौर में आप बड़ी ही आसानी से कम पूंजी में निवेश कर सकते हैं और ऐसा करना  बेहद आसान है हम यदि इन्वेस्टमेंट प्लेटफार्म की बात करें तो आजकल निवेश करने के लिए कई सारे प्लेटफार्म है मैंने यहां पर कुछ चर्चित प्लेटफार्म के नाम दिए हैं उम्मीद है आपको पसंद आएंगे.


    1 Bank Savings Account
    2 Bank Fixed Deposit
    3 Stock Tradeing
    4 Mutual Funds 


     और इसके अलावा भी निवेशक को कोई पास कहीं विकल्प है निवेश करने के लिए

     

    Conclusion ( निष्कर्ष )

     यह पोस्ट फाइनेंस क्या है तथा  इससे संबंधित सभी जानकारी इस पोस्ट में दी गई है इस लेख में वित्त संबंधित बिंदु जैसे व्यक्तिगत वित्त सार्वजनिक वित्त निगम या निकाय वित्त के बारे में जानकारी दी गई है और इसके अलावा वित्त के बिंदु जैसे बचत निवेश खर्च  अर्थात  व्यय  बजट  उधार आदि कई बिंदुओं के बारे में बताया है उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी और यदि पसंद आई है तो आप इसे अन्य दोस्तों को जरूर शेयर करें.


    Tags :- finance in Hindi, Finance Kya hai ?, savings, saving, Bank, investment, fundamental about finances, definition of finance, Hindi finance. Personal finance, Corporate finance, public finance.


    कोई टिप्पणी नहीं:

    Blogger द्वारा संचालित.