RAM Kya hai ? Iski puri jankari

DDR3_RAM_details_in_hindi_(RAM_क्या_है_इसकी_पूरी_जानकारी)

RAM Kya hai ? Iski puri jankari :- RAM कंप्यूटर का हिस्सा है  इसी की मदद से कंप्यूटर में डाटा हार्ड डिस्क से सीपीयू तक प्रोसेस किया  जाता है रैम एक अस्थाई मेमोरी है अर्थात इस मेमोरी में डाटा टेंपरेरी होता है यह कंप्यूटर मदरबोर्ड में  memory slot में लगाई जाती है अलग-अलग रेमों के प्रकारों में अलग-अलग pins होती हैं.यह मुख्यतः 168,184,240,288 pins होती हैं.computer motherboard मै average RAM की  संख्या दो या चार होती है किसी भी प्रोग्राम को रन करने के लिए उसका हार्ड ड्राइव में होना आवश्यक है यहां से प्रोग्राम RAM में लोड होता है और RAM  से  CPU data access कर सकता है प्रोग्राम रन करने के लिए.
RAM  को डाटा स्टोर करने के लिए constant इलेक्ट्रिकल पावर की आवश्यकता होती है.
 कंप्यूटर रैम में कैपेसिटर होते हैं जो इलेक्ट्रिकल पावर को  टेंपरेरी स्टोर रखते हैं

RAM Kya hai ? Iski puri jankari हिंदी में

    RAM के प्रकार :-

    इसके कई प्रकार हैं जैसे DRAM(Dynamic Random Access Memory, SDRAM(Synchronous Dynamic Random Access Memory)

    • DRAM (Dynamic Random Access Memory) सिस्टम क्लॉक के साथ Asunchronouly  ऑपरेट करती है.
    • SDRAM (Synchronous Dynamic Random Access Memory)सिस्टम क्लॉक के साथ Asunchronouly  ऑपरेट करती है.

    DRAM (Dynamic Random Access Memory) ,SDRAM (Synchronous Dynamic Random Access Memory)से धीरे काम करती है कहने का मतलब यह है कि SDRAM की परफॉर्मेंस DRAM अच्छी है  क्योंकि SDRAM 64bit  डाटा  पेथ पर कार्य करती हे.
      उदाहरण के लिए यदि DRAM दोगुना डाटा ट्रांसफर करती है तो SDRAM 4 गुना डाटा ट्रांसफर करेगी प्रोसेसर तक.

    DDR_RAM_details_in_hindi(RAM_क्या_है_इसकी_पूरी_जानकारी)

    DRAM के प्रकार

    इसके मुख्यतः दो प्रकार हैं :-

    1. DIMM (dual inline memory module)

    2. SIMM (single inline memory module)

    1 यह एक समय पर 64 बिट ट्रांसफर कर सकती है.
    २ यह एक समय पर 32 बिट ट्रांसफर कर सकती है.

    यदि आपके पास कोई कंप्यूटर है और उसमें 32bit  डाटा पाथ है तो उसमें SIMM (single inline memory module) प्रकार की  RAM लगी होगी.
    और यदि आपके पास 64-bit डाटा पाथ है तो उसमें DIMM (dual inline memory module)प्रकार की RAM लगी होगी.

      अभी तक हमने रेम की परिभाषा और उसके कार्य एवं उसके प्रकार को समझाने की कोशिश की है RAM Kya hai ? Iski puri jankari उम्मीद है आप को यह समझ आया होगा अब हम रेम  के प्रकारों की तुलना तथा उनकी विशेषताएं जानेंगे

    DDR < DDR2 < DDR3

    DDR2  रैम DDR  से  ज्यादा डाटा ट्रांसफर करती है प्रोसेसर तक क्योंकि इस रैम में DDR2  यानी  दुगनी डाटा रेट होती है अर्थात उसी प्रकार DDR2 रैम से DDR3 रैम की परफॉर्मेंस  ज्यादा होती  है क्योंकि इसमें डाटा रेट 3 गुना होता है.
    यदि आप यह सोचते हैं कि रेम की संख्या बढ़ाने से आपके पीसी की परफॉर्मेंस और बेहतर हो जाएगी तो यह पूरा सत्य नहीं है पीसी की परफॉर्मेंस पीसी के हार्डवेयर जैसे कंप्यूटर प्रोसेसर कंप्यूटर डाटा पैथ और रेम के प्रकार आदि पर निर्भर करती है.

    RAM की विशेषताएँ  हिंदी में

    • इसके बिना कम्प्यूटर अपना काम  करने में असमर्थ होता है.
    • कम्प्यूटर की प्राथमिक मेमोरी होती हैं.
    •  कंप्यूटर मदरबोर्ड का पार्ट होती है.
    • टर डाटा को randomly एक्सेस करती है.
    • अस्थाई मगर तेज होती हैं.
    • कंप्यूटर के दूसरे पार्ट्स की तुलना में RAM मंहगी होती हैं.
    • Storage से अलग होती हैं.

     यहां दी गई उपरोक्त सभी जानकारी कंप्यूटर रैम और उसके संबंध मैं दी गई है.

    Conclusion ( निष्कर्ष)

    इस लेख  मैं  उपरोक्त दी गई सभी जानकारी कंप्यूटर रेम से संबंधित है इस पोस्ट में  कंप्यूटर रेम   के सभी प्रकार के बारे में और रेम की परिभाषा और उसके अलावा रेम की विशेषता का वर्णन हिंदी भाषा में किया गया है.

    यदि आपको यह जानकारी पसंद आई तो नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में कमेंट कर हमें जरूर बताएं और यदि आप कंप्यूटर पार्ट्स या अन्य किसी विषय पर जानकारी चाहते हैं तो तो हमें इस info@inhindise.xyz ई-मेल पर लिखें.


    Tags :- RAM full form, RAM Kya hai ? Iski puri jankari in Hindi, Computer RAM, DDR, DDR3, DDR2, types of RAM

    कोई टिप्पणी नहीं:

    Blogger द्वारा संचालित.